[100+] Aristotle Quotes In Hindi – महान दार्शनिक अरस्तु के अनमोल कथन

“विषमता का सबसे बुरा रूप है

विषम चीजों को एक सामान बनाना।”


“क्षिक्षा की जड़ें तो कड़वी हैं

लेकिन फल मीठा होता है।”


“बिना साहस के आप इस
दुनिया में कुछ भी नहीं करेंगे,
प्रतिष्ठा के बाद साहस ही
दिमाग की महानतम विशेषता है।”


“मैं उस व्यक्ति को ज्यादा शूरवीर मानता हूँ
जो अपने दुश्मनों पर नहीं बल्कि अपनी
इच्छाओं पर विजय प्राप्त कर लेता है;
क्यूंकि स्वयं पर विजय ही सबसे
कठिन विजय होती है।”


“आदर्श व्यक्ति वही हैं जो परिस्थितियों का
सर्वश्रेष्ठ उपयोग कर जीवन की दुर्घटनाओं को मर्यादा

और ईश्वर की कृपा समझ कर स्वीकार कर लेता है।”


“मनुष्य के सभी कार्य इन सात कारणों में से
किसी एक या अधिक वजहों से प्रेरित होते हैं:
मौका, स्वभाव, मजबूरी या आवश्यकता, आदत,
वजह, जुनून तथा प्रबल इच्छा।”


“उत्कृष्टता वो कला है जो प्रशिक्षण और
आदत से जीती जाती है।

हम इस लिए सही कार्य नहीं करते कि हमारे
अन्दर अच्छाईयाँ या उत्कृष्टता है,
बल्कि इसलिए क्योंकि हमने सही कर्म किये हैं।
हम वही हैं जो हम बार बार करते हैं,
इसलिए उत्कृष्टता कोई कर्म नहीं बल्कि एक आदत है।”

“स्वयं का ज्ञान ही हर
बुद्धिमानी/ज्ञान की शुरुआत है।”

“प्रसन्नता स्वयं के

ऊपर निर्भर होती है।”


“प्रसन्नता ही जीवन का अर्थ और मकसद होता है,
जीवन का सम्पूर्ण लक्ष्य और मानव अस्तित्व।”

“कोई भी क्रोधित हो सकता है – यह आसान है,
लेकिन सही व्यक्ति से सही सीमा में सही समय पर और
सही उद्देश्य के साथ सही तरीके से क्रोधित

होना सभी के बस कि बात नहीं है और यह आसान नहीं है।”


“जो व्यक्ति सबका मित्र है

वो किसी का भी मित्र नहीं है।”


“धैर्य कड़वा होता है लेकिन

इसका फल मीठा होता है।”


“शिक्षित और अशिक्षित में उतना ही अंतर होता है

जितना की जीवित और मृत में होता है।”

“जिसने अपने भय पर विजय प्राप्त

कर ली है वो स्वतन्त्र हो जायेगा।”


“जो जानते हैं वो करते।

जो समझते हैं वो पठाते हैं।”


“जो व्यक्ति एकांत में प्रसन्न है
वो या तो जंगली जानवर है

या फिर भगवान।”


“५० दुश्मनों की दवा है

एक मित्र।”


“गरीबी क्रांति और

अपराध की जनक है।”


“नौकरी या काम-काज में आनंद,

काम में उत्कृष्ठता लाती है।”


“सीखना बच्चों का खेल नहीं है;
बिना दर्द के हम सीख नहीं सकते।”
Facebook Comments