[100+] Jawaharlal Nehru Quotes in Hindi – जवाहरलाल नेहरु के अनमोल विचार

एक नेता या कर्मठ व्यक्ति संकट के समय

लगभग हमेशा ही अवचेतन रूप में कार्य करता है

और फिर अपने किये गए कार्यों के लिए तर्क सोचता है.


एक ऐसा क्षण जो इतिहास में बहुत ही कम आता है ,

जब हम पुराने के छोड़ नए की तरफ जाते हैं ,
जब एक युग का अंत होता है ,

और जब वर्षों से शोषित एक देश की आत्मा ,
अपनी बात कह सकती है.


एक सिद्धांत को वास्तविकता के साथ

संतुलित किया जाना चाहिए.


जब तक मैं स्वयं में आश्वस्त हूँ की

किया गया काम सही काम है

तब तक मुझे संतुष्टि रहती है.


कार्य के प्रभावी होने के लिए उसे

स्पष्ठ लक्ष्य की तरफ निर्देशित किया जाना चाहिए.


नागरिकता देश की सेवा में निहित है.


संकट और गतिरोध जब वे होते हैं तो

कम से कम उनका एक फायदा होता है कि

वे हमें सोचने पर मजबूर करते हैं.


संस्कृति मन और आत्मा का विस्तार है.


लोकतंत्र और समाजवाद

लक्ष्य पाने के साधन है,

स्वयम में लक्ष्य नहीं.


लोकतंत्र अच्छा है .

मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूँ

क्योंकि बाकी व्यवस्थाएं और बुरी हैं.


संकट के समय हर

छोटी चीज मायने रखती है.


तथ्य तथ्य हैं और आपके

नापसंद करने से गायब नहीं हो जायेंगे.


असफलता तभी आती है जब

हम अपने आदर्श, उद्देश्य,

और सिद्धांत भूल जाते हैं.


महान कार्य और छोटे लोग

साथ नहीं चल सकते.


मैं पूर्व और पश्चिम का अनूठा मिश्रण बन गया हूँ,

हर जगह बेमेल सा , घर पर कहें का नही.


अज्ञानता बदलाव से हमेशा डरती है.


सुझाव देना और बाद में हमने जो कहा

उसके नतीजे से बचने की

कोशिश करना बेहद आसान है


हर एक हमलावर राष्ट्र की

यह दावा करने की आदत होती है कि

वह अपनी रक्षा के लिए कार्य कर रहा है.


हमें थोडा विनम्र रहना चाहिए;

हम ये सोचें कि शायद सत्य

पूर्ण रूप से हमारे साथ ना


जीवन ताश के पत्तों के खेल की तरह है.

आपके हाथ में जो है वह नियति है ,

जिस तरह से आप खेलते हैं वह स्वतंत्र इच्छा है.

Facebook Comments
Pages ( 1 of 2 ): 1 2Next »