Abraham Lincoln Quotes in Hindi – अब्राहम लिंकन के अनमोल विचार

मित्र वो है जिसके शत्रु वही हैं

जो आपके शत्रु हैं.


औरत ही एक मात्र प्राणी है

जिससे मैं ये जानते हुए भी की वो

मुझे चोट नहीं पहुंचाएगी, डरता हूँ.


प्रजातंत्र लोगों की, लोगों के द्वारा,

और लोगों के लिए बनायीं गयी सर्कार है.


अगर कुत्ते की पूँछ को पैर कहें,

तो कुत्ते के कितने पैर हुए ? चार.

पूछ को पैर कहने से वो पैर नहीं हो जाती.


मैं जो भी हूँ, या होने की आशा करता हूँ,

उसका श्रेय मेरी माँ को जाता है.


हमेशा ध्यान में रखिये की

आपका सफल होने का संकल्प

किसी भी और संकल्प से महत्त्वपूर्ण है.


शत्रुओं को मित्र बना कर

क्या मैं उन्हें नष्ट नहीं कर रहा ?


अगर शांती चाहते हैं तो

लोकप्रियता से बचिए.


साधारण दिखने वाले लोग ही
दुनिया के सबसे अच्छे लोग होते हैं:

यही वजह है कि भगवान
ऐसे बहुत से लोगों का निर्माण करते हैं.


किसी वृक्ष को काटने के लिए आप मुझे

छ: घंटे दीजिये और मैं पहले चार घंटे

कुल्हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा.


यदि आप एक बार अपने साथी
नागरिकों का भरोसा तोड़ दें,

तो आप फिर कभी उनका सत्कार
और सम्मान नहीं पा सकेंगे.

Facebook Comments