मैं पिछले काफी दिनों से अमीरों के बारे में  पढ़ रहा हूँ | मैंने लगभग सौ किताबें पढ़ी होंगी | इन किताबों में अमीरों की जीवनी, उनके कार्य करने के तरीके, उनके विचार, उन्होने क्या रास्ते अपनाये आदि चीजें सीखने को मिलीं | इन पुस्तकों को पढ़ने के बाद जो सबसे जरूरी चीज मैंने सीखी वो है आदतें | आदतें ही हैं जो किसी व्यक्ति का भविष्य निर्धारित करती हैं | आदतें ही व्यक्ति का भविष्य बनाती और बिगाड़ती हैं | आइये जानते हैं ऐसी आदतों के बारे में जो अमीरों को गरीबों से अलग करती हैं | ऐसी आदतें जिन्हें अपनाकर आप अमीर बनने की अपनी संभावनाओं को बेहतर कर सकते हैं |

arabpatiyon-ki-aadaten-10-habits-ofbillionaires-hindi.tips

 

इस पोस्ट में हम उन अरबपतियों के बारे में बात करेंगे जो ईमानदारी से अमीर बने हैं | इस पोस्ट का बेईमान और घूसखोर लोगों से कोई सम्बन्ध नहीं है |

इस पोस्ट की लम्बाई को देखते हुए दो हिस्सों में प्रकाशित किया जा रहा है | यह पहला भाग है, अगला भाग जल्दी ही प्रकाशित होगा |

इन आदतों को जानने से पहले जरूरी है कि आप खुद से एक सवाल पूछें, एक ऐसा सवाल जो सबसे ज्यादा अंतर पैदा करता है, ऐसा सवाल जो आपको बताएगा कि आप सही रास्ते पर जा रहे हैं या नहीं | वो सवाल क्या है ? वो सवाल है :

आप जीने के लिए कमाते हैं या कमाने के लिए जीते हैं ?

aap-jeene-ke-liye-kamate-hain-ya-kamane-ke-liye-jeete-hain-hindi.tips

 

रुकिए ! अभी उत्तर न दीजिए | उत्तर देने से पहले दोनों में अंतर समझना बहुत जरूरी है | दोनों के बीच काफी अंतर है | कमाने के लिए जीने वाले की जिंदगी में पैसा सबसे महत्वपूर्ण होता है | वो पैसे कि लिए कुछ भी कुर्बान कर सकता है | जीने के लिए जो लोग कमाते हैं उनका प्राथमिक उद्देश्य पैसा नहीं होता | उनका प्राथमिक उद्देश्य होता है : खुशी |  

अब मैं आपका उत्तर जानना चाहूँगा | क्या आप जीने के लिए कमाते हैं या कमाने के लिए जीते हैं ? या आप कन्फ्यूज हैं ? 

अक्सर लोग जीने के लिए कमाना शुरू करते हैं और समय के साथ साथ कमाने के लिए जीने लग जाते हैं | यह बदलाव इतना धीरे होता है कि उन्हें खुद भी पता नहीं चलता | एक ऐसा समय आता है जब उनकी जिंदगी सिर्फ पैसे पर केंद्रित हो जाती है | उनकी बातें, उनके काम, उनकी दोस्ती, उनकी दुश्मनी, उनका प्यार सबकुछ | अगर आप ऐसे समय में हैं तो निस्संदेह रूप से आप कमाने के लिए जी रहे हैं |

अगर आप अमीर बनना चाहते हैं तो कमाने के लिए न जीयें, जीने के लिए कमाएँ | पैसा तभी उपयोगी है जब ये आपके काम आये |

 

अंधे के लिए महल और खँडहर दोनों बराबर सुन्दर होते हैं  !

पैसा बहुत जरूरी साधन है, मगर उनके लिए जो इसका उपयोग कर सकते हैं | अगर आप पैसे का उपयोग नहीं कर सकते तो इसके होने न होने का कोई फायदा नहीं है | अगर आप अपनी जिंदगी घिसट घिसट के बिताते हैं और अस्सी साल की उम्र में अमीर बनते हैं तो उससे बेहतर है कि आप अपनी जिंदगी मजे से गुजारें और बिना अमीर बने ही मर जाएँ |

मैंने ये दोनों बातें क्यों कहीं ? क्या मैं चाहता हूँ कि आप गरीब ही रहें, आप पैसे के लिए मेहनत न करें ? नहीं, मैं ये कहना चाहता हूँ कि पैसे के लिए मेहनत करना बहुत जरूरी है और आपको ये करनी चाहिए, लेकिन हर चीज की सीमा होती है | आप जिंदगी के लिए पैसा कुर्बान कर सकते हैं मगर पैसे के लिए जिंदगी कभी कुर्बान न करें | पैसे कमाने में कभी इतने मगशूल न हों कि आप जिंदगी के सारे आनंद से वंचित रह जाएँ |

यह भी पढ़ें :   Captcha वेबसाईट से पैसे कैसे कमाएँ | Earn From Captcha Filling Websites

 

अरबपतियों की आदतें :

 

  • अपने काम से काम रखना : 

अमीर लोग अपने काम से काम रखते हैं | इसका मतलब यह नहीं है कि वो दूसरों के साथ संवाद नहीं करते | इसका मतलब है कि वे दूसरों के कामों में तब तक नहीं उलझते जब तक कि इसकी जरूरत न हो | वे इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं देते कि उनका पडोसी क्या कर रहा है, बल्कि इस बात पर ध्यान देते हैं कि वे क्या कर रहे हैं | वे दूसरों की टांग खींच के उन्हें नीचे नहीं गिराते, वे खुद को ऊपर उठाते हैं |

 

  • क्या मेहनत जरूरी है ?

अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन का एक कथन है : Give me six hours to chop down a tree and I will spend the first four sharpening the axe.  जिसका हिंदी में अर्थ कुछ यह हुआ : अगर आप मुझे एक पेड़ काटने के लिए छः घंटे देंगे, तो उनमें से पहले चार घंटे मैं अपनी कुल्हाड़ी को पैना करने में बिताऊंगा  | 

abraham-lincoln-agar-aap-apni-kulhadi-ghante-paina-time-axe-sharpen-hindi.tips (1)

 

क्या आप अब्राहम के कहने का मतलब समझे | अब्राहम सही जगह पर मेहनत कर रहे हैं | अगर उनकी कुल्हाड़ी पैनी होगी तो पेड़ दो घंटे में ही कट जायेगा अन्यथा उसे छ: घंटे में भी काटना मुश्किल होगा |

जैसा मैं अक्सर कहता हूँ – मेहनत तो गधे भी करते हैं लेकिन किसी गधे का  जीवन स्तर ऊपर नहीं  उठता, बल्कि जितना ज्यादा मेहनत गधा करता है, कुम्हार उतना ही पैसे ज्यादा कमाता है |

मेहनत जरूरी है लेकिन उससे भी ज्यादा जरूरी है कि आप किस दिशा में मेहनत कर रहे हैं | अगर आपको पांच सौ किलोमीटर जाना है तो अपने पैरों की बजाय अपने वाहन पे मेहनत करना ज्यादा समझदारी की बात है, इसी तरह अगर आपको अरबपति बनना है तो आपको अरब रुपये की बचत की बजाय ऐसा व्यापार खड़ा करना होगा जो अरब रुपये का प्रोफिट कराये |

अगर एक लाइन में कहा जाये तो : अमीर लोगों को पता होता है कि हार्ड वर्क की जगह स्मार्ट वर्क करना ज्यादा बुद्धिमानी की बात है |

 

  • ज्ञान की कीमत

एक मजदूर एक घंटे में ज्यादा से ज्यादा सौ दो सौ रुपये कमाता है, एक डॉक्टर एक घंटे में हजारों रुपये कमाता है और अम्बानी जैसे व्यक्ति एक घंटे में करोड़ों रुपये कमाते हैं | तीनों के बीच अंतर क्या है ?

मजदूर का ज्ञान बहुत सीमित है, उसने ज्ञान प्राप्त करने में मेहनत नहीं की इसलिए उसे ऐसा काम मिला है जिसमें ज्ञान की कोई जरूरत नहीं है और यही कारण है कि उसे बहुत कम पैसे मिलते हैं | डॉक्टर का ज्ञान काफी वृहद है और उस ज्ञान की बदौलत ही वह एक घंटे के हजारों कमाता है, लेकिन अम्बानी जैसे व्यक्ति को ज्ञान है कि उन लोगों को किस तरह काम पर रखा जाए जिनके पास वो ज्ञान है जो उसके पास नहीं है | ऐसा व्यक्ति न सिर्फ अपने ज्ञान को बढाता है बल्कि उन लोगों को अपने साथ रखता है जिनके पास अपने क्षेत्र का सबसे ज्यादा ज्ञान है अम्बानी जैसा व्यक्ति ज्ञानी लोगों का एक समूह बनाता है और उस समूह के साथ मिलकर काम करता है | यही कारण है कि उसकी प्रत्येक घंटे की कमाई करोड़ों में होती है |

यह भी पढ़ें :   10 किताबें जो बदल देंगी आपकी जिंदगी |10 Must Read Books |

अमीर लोग अपने ज्ञान को बढ़ाने व दूसरे ज्ञानी लोगों को अपने साथ मिलकर काम करवाने पर बहुत मेहनत करते हैं | अगर आप भी अधिक पैसे कमाना चाहते हैं तो अपने ज्ञान को बढ़ाएं |

  • नौकरी और रिस्क  

Tony A Gaskin का एक बहुत महत्वपूर्ण कथन है : “If you don’t build your dream, someone will hire you to help build theirs.” जिसका अर्थ कुछ यह हुआ : “अगर आप अपने सपनों को पूरा नहीं कर रहे, तो कोई आपको नौकरी पर रख लेगा ताकि आप उसके सपनों को पूरा कर सकें”

If you don't build your dream someone will hire you to help build theirs-hindi.tips (1)

आम आदमी के जीवन में नौकरी का बहुत महत्त्व है | विशेष रूप से सरकारी नौकरी का | और हो भी क्यों न, नौकरी आपको आर्थिक सुरक्षा देती है, रिटायर होने के बाद भी |अगर आपके पास नौकरी है तो आप गरीब नहीं रहते, आप मध्यमवर्ग में आ जाते हैं, लेकिन नौकरी कभी आपको बहुत अमीर भी नहीं बनाती | यही नौकरी की समस्या है | आपकी तनख्वाह कोई और निर्धारित करता है और आप जितनी ज्यादा मेहनत करते हैं आपके मालिक को उतना ही फायदा होता है|

इसीलिए अत्यंत धनवान लोग रोजगार प्राप्त नहीं करते बल्कि दूसरों को रोजगार देते हैं ताकि दूसरे लोग उनके लिए मेहनत कर सकें |

 

  • संगति 

ये कहने की जरूरत नहीं कि संगति का व्यक्ति के जीवन पर कितना असर पड़ता है, जो व्यक्ति जैसी संगति में रहता है, वहाँ उसे वैसे ही विचार मिलते हैं और धीरे धीरे उसका स्वभाव, उसके कार्य भी संगति के अनुसार बदल जाते हैं | अगर आप अमीर बनना चाहते हैं तो आपको ऐसे लोगों की संगति करनी पड़ेगी जो अमीर हैं अथवा जो अमीर होने की राह पर हैं या कम से कम उनके मन में अमीर बनने के ख्याल हैं | अगर आप एक फ़कीर की संगति करेंगे तो ज्यादा सम्भावना है कि आप भी फ़कीर ही हो जाएँ, अगर आप चोर की संगति में रहेंगे तो सम्भावना है कि आप चोर बन  जाएँ |

फ़कीर बनना बुरा नहीं है, ये बहुत अच्छा है,  मगर उनके लिए जो चाहते हैं कि वे फ़कीर बनें | अगर आपका उद्देश्य अमीर बनने का है और आप फ़कीर बन जाते हैं तो आपसे दुखी फ़कीर दूसरा नहीं होगा और अगर आप फ़कीर बनना चाहते हैं लेकिन आपको राजा बना दिया जाये तो भी आप एक दुखी राजा होंगे |

अपनी संगति बेहद सतर्क होकर चुनें | उस तरह के लोगों के साथ समय बिताएं जो उस रास्ते पर चल रहें हैं जिस पर आपको चलना है | अपनी संगति में उन लोगों को चुनें जो आपको आपके लक्ष्य की तरफ बढ़ने में मदद करें और आपका सहयोग करें |

 

  • दिमाग की दिशा

आइये हम तीन दोस्तों पर एक नजर डालते हैं | ये तीन दोस्त हैं रमेश, सुरेश और महेश | तीनों का दिमाग तेज है और तीनों ही अपने तरीके से इसका इस्तेमाल करते हैं |

रमेश को फ़िल्में देखना बहुत पसंद है, रमेश दिन में तीन तीन फ़िल्में देखता है, वह पूरा दिमाग लगाता है और बड़ी ही सरलता से फिल्मों की कमियां ढूंढ लेता है, आप उससे कहिये कि आपको किस तरह की फिल्म देखनी है और वो उस श्रेणी की सर्वश्रेष्ठ फिल्म का नाम आपको बता देगा |

यह भी पढ़ें :   4 भरोसेमंद PTC वेबसाइट्स जिनसे आप पैसे कमा सकते हैं | 4 Genuine PTC (Paid To Click) Sites To Earn From

दूसरी तरफ सुरेश दिन में तीन तीन महान लोगों के बारे में पढता है, वह भी रमेश की तरह पूरा दिमाग लगाता है | किस महान व्यक्ति ने अपने जीवन में क्या गलतियाँ कीं, क्या सही कार्य किये, सुरेश आपको एक ही सांस में बता देगा |

इन दोनों से इतर, महेश का दिमाग इस बात में ज्यादा चलता है कि बिल गेट्स जैसे व्यक्ति ने कॉलेज क्यों छोड़ा, वारेन बफे ने शेयर बाजार में ही क्यों पैसे लगाये अथवा धीरू भाई अम्बानी अपने कमाए बीस में से पन्द्रह रुपये इस बात में क्यों खर्च करते थे कि वो सिर्फ अमीरों के रेस्टोरेंट में कॉफी पी सकें और अमीरों के तरीके सीख सकें | किस अरबपति ने कोई काम क्यों किया ये आप महेश से पूछ सकते हैं |

क्या आप मुझे बता सकते हैं कि अगर ये लोग इसी तरह अपने दिमाग का इस्तेमाल करते रहे तो भविष्य में ये कितने पैसे कमाएंगे ?

ज्यादा संभावना है कि रमेश को फिल्मों के बारे में काफी जानकरी हो जाये, वो राजीव मसंद की तरह फिल्म क्रिटिक बन जाये | सुरेश हो सकता है कि एक महान व्यक्ति व समाज सुधारक बने और काफी नाम कमाए | वहीँ महेश हो सकता है अपना व्यापर शुरू कर दे | तीनों में से महेश के एक अमीर आदमी बनने के ज्यादा चांस हैं | ऐसा नहीं है कि रमेश व सुरेश गलत हैं, नहीं ! वो अपने हिसाब से ठीक हैं, लेकिन सही होने का ये मतलब नहीं है कि आप अमीर भी बन जायेंगे |

अगर आपको अमीर बनना है, अगर आपको अरबपति बनना है तो आपको अपने दिमाग का प्रयोग उस दिशा में करना होगा जिस दिशा में आपके अमीर बनने की ज्यादा सम्भावना है | आपको अमीरों के तरीके सीखने होंगे | आपको  व्यापार के बारे में जानना होगा | आपको समय देना होगा खुद को बेहतर बनाने में |

  • देने की इच्छा

 

 

aap-duniya-ko-jitna-denge-world-will-give-you-more-hindi.tips (1)

हर चीज की कीमत होती है, आपको जो भी मिलता है, उसके बदले आपको कुछ न कुछ चुकाना पड़ता है | अगर आप कुछ चुकायेंगे नहीं तो आपको कुछ मिलेगा भी नहीं | आपको भौतिक वस्तुओं के लिए पैसे चुकाने पड़ते हैं | अगर आपको सम्मान चाहिए तो आपको दूसरों को सम्मान देना पड़ता है | संसार का एक खास नियम है : आप दुनिया को जितना देंगे, दुनिया आपको उससे कहीं ज्यादा देगी|

अमीर व्यक्ति इस नियम को जानता है, इसीलिए वो ऐसा तरीका खोजता है जिससे वो दुनिया को ज्यादा से ज्यादा दे सके| बिल गेट्स ने दुनिया के हर घर में एक कंप्यूटर पंहुचा कर दुनिया का भला किया, बदले में दुनिया ने उन्हें सबसे अमीर आदमी बनाया | गूगल ने दुनिया को नयी तकनीक दी, लोगों कि जिंदगी आसान बनाई | आज गूगल अरबों का व्यापार कर रहा है |

अगर आप चाहते हैं कि आपको बहुत सा धन मिले, या बहुत सम्मान मिले तो आप दुनिया को देना शुरू कर दें | आप दूसरों की जिंदगी को बेहतर बनायेंगे तो दूसरे आपकी जिंदगी को बेहतर बनायेंगे |

 

सूची अभी खतम नहीं हुई है | सूची अभी बाकी है मेरे दोस्त, मिलते हैं अगली पोस्ट में और बात करते हैं बची हुई आदतों पर |

इस सूची के बारे में अपने विचार व्यक्त करना न भूलें | आपके विचार ही हमें प्रेरित करते हैं |