[ Top 100+] Indian Politics Jokes in Hindi – भारतीय राजनीती के चुटकुले हिन्दी में

एक शमशान में लिखा था -‘मृत्यु अटल है’

एक कांग्रेसी को बड़ा गुस्सा आया, उसने नीचे लिख दिया
ये संघ की चाल है। मृत्यु न अटल है न आडवाणी है

हमारी मृत्यु तो RAHUL GANDHI है।😂😂😂


अगर मनमोहन सिंह कोयला घोटाले में दोषी पाए गए तो

उन तमाम लोगों के मुंह बंद हो जाएंगे जो लगातार कह रहे थे कि

… . . . . . . 10 सालों में उन्होंने कुछ नहीं किया।


• एक आदमी बैंक में गया और बोला,
“सारा पैसा इस बैग में डाल दो।”

मैनेजर ने देखा कि आदमी के पास कोई हथियार नहीं तो बोला,
“किस ख़ुशी में?”

आदमी ने मुँह से मास्क उतारा और बोला,
“मुझे ‘स्वाइन फ्लू’ है,

डालते हो पैसा या छींकना शुरू करूँ।”


जैसे महाराष्ट्र में ‘गाय’ को मारने पर बैन लगा दिया

अगर पंजाब में कहीं “मुर्गों” को मारने पर बैन लगा दिया गया

तो पंजाबी मुर्गों को आत्महत्या करने पर मज़बूर कर देंगे।


कांग्रेस की हालत शोले के जेलर असरानी सी है-
“आधे बीजेपी में जाओ,

आधे आम आदमी पार्टी में जाओ,
बाकी मेरे साथ आओ,

हा, हा, हम अंग्रेज के जमाने के पार्टी हैं”


कांग्रेस के पुराने दिग्गज जिनका

पार्टी में भरपूर शोषण हुआ

अब वो कभी किताब तो कभी पत्र लिख कर

कांग्रेस मुक्त भारत में योगदान दे रहे हैं।


भारत के 3 दिन के दौरे के बाद

ओबामा अंत में सऊदी अरब चले गए।
दूसरे शब्दों में…

“ओबामा गया तेल लेने”।


अमेरिका से चलते वक़्त डॉक्टरों ने
दोबारा अच्छी तरह चेकअप किया

और सुनिश्चित किया कि ओबामा को
आगरा जाने की कोई ज़रुरत नहीं है।


आज से मोदी का नौंवा महीना शुरू हो गया है।

“विकास” कभी भी पैदा हो सकता है।


“बेटी बचाओ” का तो पता नहीं –
लेकिन भारत में बढ़ते अपराध के कारण
बेटियां जरूर “बचाओ-बचाओ” चिल्लाती हैं।


शाज़िया जी का कहना है कि –

“आप” में मेरी कद्र नही थी इसलिए मैं भाजपा में आई हूँ।

यह सुनकर आडवाणी जी और मुरली मनोहर जोशी हँस –

हँस कर लोटपोट हो रहे हैं।


वैसे जेटली की सूझबुझ की दाद देनी पड़ेगी।

एक तरफ ब्यूटी पार्लर जाना महंगा किया तो
दूसरी तरफ हार्ट अटैक की दवाओं को सस्ता किया।

यानी वो जानते थे कि अपनी पत्नियों को बिना मेकअप में देखकर

कई पतियों को हार्ट अटैक आ सकता है।

इसे कहते है असली अर्थ-शास्त्री


ख़ास उम्मीदें तो नहीं थी

मेरी रेल बजट को लेकर लेकिन एक ख्वाहिश थी,

“शौचालय में गलत नंबर लिखने वालों को

2 साल सश्रम कारावास की सजा का प्रावधान हो।”


जिस देश में लोगों को रात दस बजे तक

ये नहीं पता रहता कि उनका बॉस
कल की छुट्टी अप्रूव करेगा या नहीं,

वहाँ चार महीने पहले टिकट रिज़र्व करवाने की

छूट देना उनकी भावनाओँ के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ है।


रेल मंत्रालय से अनुरोध है कि

वे किराया बढ़ा ले दिक्कत नहीं है पर
बाथरूम मे बंधे मग्गे की चेन भी लम्बी करे

जहाँ तक पहुँचना चाहिए वहाँ तक पहुँचता नहीं है।


आज सुबह जब काम वाली को बोला कि

झाड़ू लगा दो तो वो भी तपाक से बोली,

“भाजपा से हूँ मैं, पोछा चाहे 10 बार लगवा लो,

झाड़ू को हाथ नहीं लगाऊंगी।”


दिल्ली मुख्य मंत्री का पहला फैसला –

बाइक पर तीन सवारी अब वैध है।

ताकि भाजपा के विधायक एक ही
बाइक पर बैठ कर विधान सभा जा सकें।


अब मेरा सीधा सवाल केजरीवाल जी से ये है कि

मै आज नेट पैक डलवाऊँ या

आप कल सुबह से WiFi चालू करवा देगे।


यह गलत बात है, बात झाड़ू लगाने की हुई थी,

“आप” ने तो पोंछा लगा दिया।


दरअसल किरण जी ने

‘कमर तोड़’ मेहनत की जगह
‘कमल तोड़’ मेहनत की।

Facebook Comments
Pages ( 1 of 12 ): 1 23456 ... 12Next »